हेल्प डेस्क पर कोई भी चाइनीज उपकरण न रखा जाए- मुख्यमंत्री उ०प्र०

 

मुख्यमंत्री ने कोविड-19 को लेकर जनप्रतिनिधियों व अधिकारियों के साथ की समीक्षा बैठक

कोविड-19 को लेकर किए गए प्रयासों को मुख्यमंत्री ने सराहा, बोले कोरोना से अभी हमारी जंग जारी, हर स्तर पर करने होंगे प्रयास

 

गोण्डा।

प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज जनपद गोंडा के भ्रमण के दौरान पुलिस लाइन मीटिंग हॉल में कोविड-19 वैश्विक महामारी के दृष्टिगत जिला प्रशासन द्वारा कराए गए कार्यों एवं रोजगार सृजन से संबंधित बैठक में अधिकारियों को संबोधित करते हुए कहा कि कोविड-19 वैश्विक महामारी के दौरान जिला प्रशासन द्वारा उत्कृष्ट कार्य किया गया है. यह महामारी सदी की पहली महामारी है। कोई महामारी लगभग 4 से 6 पीढ़ी के बाद आती है। प्रधानमंत्री के नेतृत्व में बने माहौल में प्रदेश द्वारा स्फूर्त भाव व बेहतर समन्वय से बेहतर से बेहतर करने का प्रयास किया गया। जहां अन्य प्रदेशों के लोग स्वयं का बचाव करते रहे और धोखे में रहे, वहीं प्रदेश में स्वयं के साथ ही साथ पूरे समाज व अन्य लोगों को भी बचाने का कार्य किया गया। उन्होंने कहा कि अभी आपदा गई नहीं है। कोविड-19 वैश्विक महामारी से आगे लड़ना है। सामान्य जनजीवन को भी आगे बढ़ाना है। बाढ़ व बरसात में होने वाली बीमारियों से भी लड़ना है। इस प्रकार और चुनौती बढ़ी है। इसलिए पूरी तैयारी के साथ सतर्क होकर जन प्रतिनिधियों के साथ बेहतर समनव्य व मिल कर शासकीय योजनाओं को क्रियान्वित कर उन्हें आगे बढ़ाना है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि वैश्विक महामारी से लड़ने के लिए जो आवश्यक निर्देश जारी किए गए थे, उसका प्रत्येक दशा में पूरी तरह अनुपालन सुनिश्चित कराया जाए। दो गज की दूरी बनाकर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन हो, फेस कवर अथवा मास्क अवश्य लगाया जाए। जब तक इस महामारी की वैक्सीन न बन जाए तब तक यह आवश्यक है कि पोस्टर, वॉल राइटिंग तथा विज्ञापन के माध्यम से लोगों को जागरुक किया जाए। कार्यालय, तहसील, अस्पताल, विकासखंड तथा स्कूल- कॉलेज व अन्य सार्वजनिक स्थलों पर पोस्टर लगाया जाए और लोग स्वयं भी सावधानी बरतें। मुख्यमंत्री ने कहा कि बुजुर्ग, एक से अधिक बीमारियों से ग्रसित या शारीरिक रूप से कमजोर व्यक्ति, गर्भवती महिलाएं एवं 10 वर्ष से कम आयु के बच्चे, इन 5 श्रेणी के लोग यदि अति आवश्यक न हो तो घर से न निकले। दो गज की दूरी के सोशल डिस्टेंसिंग के साथ सामान्य जनजीवन को चलाना है। उन्होंने कहा कि उद्योगों, दुकानों व अन्य सार्वजनिक स्थलों पर इनका पालन पूरी पारदर्शिता के साथ सुनिश्चित किया जाए। कोविड-19 वायरस पूर्व के अन्य वायरसों की अपेक्षा कमजोर है किंतु उसकी तीव्रता बहुत अधिक है। इसलिए विशेष ध्यान दिए जाने की आवश्यकता है। लगभग 80% मामलों में लक्षण स्पष्ट न होने के कारण पता न चलने से ऐसे लोग जहां जाएंगे वही संक्रमण फैलाएंगे और यदि व्यक्ति पहले से ही बीमार है तो वायरस के तीव्रता के कारण उसकी मौत निश्चित है, इसलिए विशेष सावधानी बरती जाए।

साथ ही शासनादेश के अनुसार हेल्प डेस्क की स्थापना किए जाने तथा उस पर आवश्यक स्वास्थ्य उपकरण रखे जाने के निर्देश देते हुए कहा कि चीन निर्मित कोई भी स्वास्थ्य उपकरण न रखा जाए। उन्होंने कहा कि हेल्प डेस्क के माध्यम से जांच के बाद समय से ऑक्सीजन उपलब्ध करा कर लोगों की जान बचाई जा सकती है। सर्विलांस टीम घर- घर जाए तथा 108 व 102 एंबुलेंस तैयार रखी जाए। उन्होंने कहा की एंबुलेंस स्टाफ को प्रशिक्षित कर इस महामारी के मामलों को और कम कर सकते हैं। चिकित्सा विभाग के ऐप से भी ट्रेनिंग दी जा सकती है। उन्होंने कहा कि किसी भी स्तर पर कोई लापरवाही न हो। डॉक्टर पैरा मेडिकल स्टाफ उपलब्ध रहें। इनके खाने की व्यवस्था हो तथा 24 घंटे में एक बार मरीज के बारे में मरीज के परिजनों को भी जानकारी दी जाए। नान कोविड अस्पतालों में हेल्प डेस्क जरूर बनाएं तथा अन्य चिकित्सीय सुविधाएं भी लोगों को दी जाए। उन्होंने कहा कि जनपद में आए सभी प्रवासी कामगारों को विभिन्न योजनाओं के अंतर्गत किसी न किसी रोजगार से अवश्य जोड़ा जाए तथा उन्हें बैंकों के माध्यम से ऋण भी उपलब्ध कराया जाए।
उन्होंने कहा कि गोंडा खाद्यान्न तस्करी व कालाबाजारी में पहले से बदनाम रहा है इसलिए अब ऐसा न होने पाए। सभी पात्रों का राशन कार्ड बन जाए और उन्हें प्रत्येक दशा में खाद्यान्न उपलब्ध कराया जाए। किसी के घर में खाने को कुछ नहीं है तो ग्राम प्रधान निधि व नगर निकाय निधि से ₹1000 की आर्थिक सहायता दिला दी जाए। कोई भी व्यक्ति दवा व खाद्यान्न न मिल पाने के कारण दम न तोड़ने पाये।
बैठक में मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को निर्देशित किया कि बड़ी परियोजनाओं व सड़कों के मामलों की समीक्षा होती रहे ताकि कोई कोई मामला लंबित न रहे। इसके लिए मंडल व जनपद स्तर पर समीक्षा की जाए। उन्होंने अधिकारियों को आगाह किया कि जनपद में काफी संख्या में प्रवासी कामगार काफी दिनों बाद आए हैं, इसलिए राजस्व विवाद के दृष्टिगत भी सतर्क रहने की जरूरत है। पुलिस प्रशासन भी सतर्क रहें। किसी भी व्यक्ति को कानून हाथ में लेने की छूट नहीं है। गौ तस्करी सहित अन्य तस्करी एवं सांप्रदायिक घटनाओं को प्रत्येक दशा में रोका जाए। कोरोना महामारी की लड़ाई आधी लड़ी गई है। आगे चैलेंज अधिक है। पुलिस को इंफोर्समेंट के लिए आगे आना होगा। मास्क पहनने हेतु जागरूकता के साथ ही साथ इंफोर्समेंट के जरिए जुर्माना भी लगाया जाए। उन्होंने कहा कि आगामी 1 जुलाई से प्रारंभ हो रहे संचारी रोग नियंत्रण अभियान के कार्यक्रमों में भीड़ न हो, इसका ध्यान रखा जाए तथा 5 जुलाई को प्रदेश में होने वाले 25 करोड़ पेड़ लगाने के अभियान की सफलता हेतु जनप्रतिनिधियों को अलग-अलग स्थानों पर ले जाकर उनकी उपस्थिति में वृक्षारोपण के अभियान को पूरी तरह सफल बनाने की कार्य योजना इस प्रकार बनाई जाए कि कहीं भी भीड़ न होने पाए। उन्होंने कहा कि नदियों में बढ़ रहे जलस्तर के दृष्टिगत बचाव कार्य व बाढ़ के दौरान विषाणु जनित बीमारियों की रोकथाम हेतु पूरी तैयारी पहले से ही रखी जाए।

बैठक में मुख्यमंत्री ने जनप्रतिनिधियों द्वारा उठाए गए बिंदुओं का संज्ञान लेते हुए संबंधित अधिकारियों को तत्काल कार्यवाही के निर्देश दिए। उन्होंने उतरौला- फैजाबाद मार्ग के निर्माण में वन विभाग से एन.ओ.सी. मिलने में देरी होने के कारणों से संबंधित विवरण दो दिन के भीतर उपलब्ध कराने हेतु आयुक्त, देवीपाटन को निर्देशित किया। इसी प्रकार दतौली से मनकापुर मार्ग के सुदृढ़ीकरण के स्वीकृत कार्य में एक विडर के अयोग्य होने पर मामला मा० न्यायालय में लंबित होने पर उन्होंने जिलाधिकारी से इस संबंध में 3 दिन के भीतर रिपोर्ट देने को कहा।

बैठक के बाद मुख्यमंत्री ने जिला अस्पताल का औचक निरीक्षण किया वहां पर उन्होंने इमरजेंसी वार्ड, मेडिकल वार्ड, बच्चा वार्ड तथा हड्डी वार्ड में जाकर मरीजों से बातचीत की तथा उन्हें दी जा रही मेडिकल सुविधाओं के बारे में पूछा। वहां पर उन्होंने जिलाधिकारी तथा सीएमओ को निर्देशित किया कि अस्पताल में साफ – सफाई व दवाओं की उपलब्धता प्रत्येक दशा में सुनिश्चित कराई जाती रहे।

बैठक में उपस्थित जनप्रतिनिधियों द्वारा अपने-अपने क्षेत्रों से संबंधित हो रहे कार्य व समस्याओं से अवगत कराया गया। देवीपाटन मंडल के आयुक्त महेंद्र कुमार ने कोविड-19 महामारी के संबंध में मंडल की वस्तु स्थिति से मुख्यमंत्री को अवगत कराया। जिलाधिकारी डॉ० नितिन बंसल ने वैश्विक महामारी के दृष्टिगत जिला प्रशासन द्वारा कराए गए कार्य एवं रोजगार सृजन से संबंधित विभिन्न योजनाओं के अंतर्गत हुई प्रगति से मुख्यमंत्री को विस्तृत रूप से अवगत कराया। पुलिस अधीक्षक आरके नैयर ने कानून व्यवस्था की स्थिति से मुख्यमंत्री को अवगत कराया।

इस अवसर पर सांसद कैसरगंज बृजभूषण शरण सिंह, सांसद गोंडा कीर्तिवर्धन सिंह, प्रदेश के समाज कल्याण मंत्री रमापति शास्त्री, विधायक कटरा बाजार बावन सिंह, विधायक कर्नलगंज कुंवर अजय प्रताप सिंह उर्फ लल्ला भैया, विधायक मेहनौन विनय द्विवेदी, विधायक तरबगंज प्रेम नारायण पांडे, विधायक गौरा प्रभात वर्मा, विधायक सदर प्रतीक भूषण सिंह, जिला अध्यक्ष सूर्य नारायण तिवारी तथा आयुक्त देवीपाटन मंडल महेंद्र कुमार, डीआईजी डॉ राकेश सिंह डीएम डॉ० नितिन बंसल, पुलिस अधीक्षक आर के नैयर, सीडीओ शशांक त्रिपाठी, सीएमओ डॉ मधु गैरोला, नगर मजिस्ट्रेट वंदना त्रिवेदी तथा अन्य संबंधित अधिकारी उपस्थित रहे।

मृत्युंजय

mrityunjay142017@gmail.com +919455503148

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

बजट पेश होने के बाद तिलक हाल में प्रेस वार्ता।
View More
View More
View More
शुभ दीपावली
View More
  • 1
बजट पेश होने के बाद तिलक हाल में प्रेस वार्ता।

मा० मुख्‍यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी द्वारा बजट पेश होने के बाद तिलक हाल में प्रेस वार्ता।

गोंडा - मतदाताओं से जिला निर्वाचन अधिकारी डॉ नितिन बंसल की अपील. देखें विडियो 

शुभ दीपावली

महालक्ष्मी नमस्तुभ्यम् नमस्तुभ्यम् सुरेश्वरी
हरि प्रिये नमस्तुभ्यम् नमस्तुभ्यम् दया निधे

शुभ दीपावली

मंगलमयी
कामनाओं के साथ
आप एवं आप के परिवार को दीपावली की हार्दिक मंगल कामनाये।माँ लक्ष्मी आपको सुख - समृद्धि , वैभव, प्रदान करें।
💐 * दीपावली * 💐
* की *
हार्दिक शुभकामनाएँ

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Social media & sharing icons powered by UltimatelySocial

Enjoy this blog? Please spread the word :)

× सम्पर्क करने के लिए क्लिक करें