दो दिवसीय कार्यशाला में देश भर से लगभग 55 शोधार्थियों ने लिया भाग ।

सीमैप दो दिवसीय कार्यशाला का हुआ आयोजन

रिपोर्ट-जितेन्द्र निषाद (+919455503148)

 

 

 

 

लखनऊ। सीएसआईआर-केंद्रीय औषधीय एवं सगंध पौधा संस्थान (सीमैप) में गुरुवार को ‘इंडियन बायोरिसोर्सेज इंफॉर्मेशन नेटवर्क डेटाबेस की जैव विविधता के संरक्षण में उपयोगता’ के विषय पर राष्ट्रीय कार्यशाला आयोजन किया गया। इस दो दिवसीय कार्यशाला में देश भर से लगभग 55 शोधार्थियों ने भाग लिया।

यह कार्यशाला, सीएसआईआर-केंद्रीय औषधीय एवं सगंध पौधा संस्थान (सीमैप), लखनऊ एवं भारतीय सुदूर संवेदन संस्थान – भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (आईआईआरएस–इसरो) द्वारा संयुक्त रूप से आयोजित की जा रही है। इस कार्यशाला का उद्घाटन सीएसआईआर-भारतीय विषविज्ञान अनुसंधान केन्‍द्र (आईआईटीआर), लखनऊ के निदेशक, डॉ. आलोक धवन द्वारा किया गया।

वहीं डॉ.अब्दुल समद ने कहा कि देश के कई संस्थान भारत के जैव स्रोतों के दस्तावेजीकरण के लिए काम कर रहे हैं। उन्होंने इंडियन बायोरिसोर्सेज इंफॉर्मेशन नेटवर्क (आईबिन) के माध्यम से जैविक संसाधनों के बारे में जानकारी प्रदान करने के लिए एक एकल मंच बनाने के प्रयासों के लिए जैव प्रौद्योगिकी विभाग (डीबीटी), भारतीय सुदूर संवेदन संस्थान – भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (आईआईआरएस–इसरो), एवं कृषि विज्ञान विश्वविद्यालय (यूएस, बैंगलोर) की सराहना की।

इसी दौरान आईआईआरएस, देहरादून के डॉ. समीर सरन ने आईबिन नेटवर्क की उत्पत्ति के बारे में जानकारी दी। बता दें कि डॉ. समीर आईबिन (IBIN) के राष्ट्रीय समन्वयक भी हैं। इस डेटाबेस में दी गयी जानकारी इसरो द्वारा किये गये विभिन्न जैव विविध परियोजनाओं से प्राप्त हुई है। उन्होंने प्रयोगशाला में मॉडलिंग जैसी विभिन्न विशेषताओं के बारे में भी बताया।

वहीं डॉ.आलोक धवन ने एक डी-सेंट्रलाइज्ड बायोरिसोर्स पोर्टल प्रदान करने के प्रयासों की सराहना की। साथ ही उन्होंने कहा है कि इस डेटाबेस में डाले जा रहे डेटा की वैधता और प्रमाणिकता को भी ध्यान में रखा जाये। उन्होंने जैव विविधता की चोरी को रोकने और वास्तविक उपयोगकर्ताओं के बीच डेटा को साझा करने के लिए तंत्र के विकास पर भी जोर दिया।

वर्कशाप के दौरान, सीमैप के विभिन्न गणमान्य व्यक्तियों और वैज्ञानिकों द्वारा व्याख्यान दिया गया। इनमे डॉ.आलोक कालरा, पूर्व मुख्य वैज्ञानिक और कार्यवाहक निदेशक, सीएसआईआर-सीमैप, डॉ. समीर सरन, वैज्ञानिक ‘एसएफ’ और प्रमुख भू-विज्ञान, आईआईआरएस–इसरो, देहरादून, प्रो के. एन. गणेशैय्या, परियोजना सलाहकार, एसईसी, कृषि विज्ञान विश्वविद्यालय, बैंगलोर, डॉ. एम. पी. दारोकर, वरिष्ठ प्रधान वैज्ञानिक, सीएसआईआर-सीमैप शामिल रहे। आईआईआरएस–इसरो, देहरादून की टीम द्वारा आईबिन पोर्टल और मोबाइल अनुप्रयोगों का हैंड्स ऑन प्रदर्शन भी दिया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

बजट पेश होने के बाद तिलक हाल में प्रेस वार्ता।
View More
View More
View More
शुभ दीपावली
View More
  • 1
बजट पेश होने के बाद तिलक हाल में प्रेस वार्ता।

मा० मुख्‍यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी द्वारा बजट पेश होने के बाद तिलक हाल में प्रेस वार्ता।

गोंडा - मतदाताओं से जिला निर्वाचन अधिकारी डॉ नितिन बंसल की अपील. देखें विडियो 

शुभ दीपावली

महालक्ष्मी नमस्तुभ्यम् नमस्तुभ्यम् सुरेश्वरी
हरि प्रिये नमस्तुभ्यम् नमस्तुभ्यम् दया निधे

शुभ दीपावली

मंगलमयी
कामनाओं के साथ
आप एवं आप के परिवार को दीपावली की हार्दिक मंगल कामनाये।माँ लक्ष्मी आपको सुख - समृद्धि , वैभव, प्रदान करें।
💐 * दीपावली * 💐
* की *
हार्दिक शुभकामनाएँ

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Social media & sharing icons powered by UltimatelySocial

Enjoy this blog? Please spread the word :)

× सम्पर्क करने के लिए क्लिक करें